मऊ/पुलिस ने उसके दोनों बेटे उमर अब्बास पर 25-25 हजार रुपये6 का इनाम भी घोषित कर दिया...............
news-portal-verz-technologies

मऊ/बाहुबली मुख्तार अंसारी उसके दोनों बेटों पर राजधानी पुलिस ने भी कानून का शिकंजा कस दिया है। पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी का बी वारंट तैयार कराने के साथ ही पुलिस ने उसके दोनों बेटे उमर और अब्बास पर 25-25 हजार रुपये6 का इनाम भी घोषित कर दिया है।

पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने बताया कि मुख्तार का वारंट और उसके दोनों बेटों पर इनाम की कार्रवाई हजरतगंज के डालीबाग में सरकारी जमीन पर अवैध निर्माण कराने के मुकदमे में की गई है।
पुलिस आयुक्त ने बताया कि मुख्तार और उसके बड़े बेटे अब्बास व छोटे बेटे उमर के खिलाफ हजरतगंज की डालीबाग कॉलोनी में निष्क्रांत जमीन पर कब्जा करके दो टॉवर का निर्माण कराने की एफआईआर दर्ज है। दोनों टॉवर एलडीए के दस्ते ने 27 अगस्त को ढहा दिए थे।

पंजाब की रोपड़ जेल में बंद मुख्तार अंसारी का बी वारंट तैयार कराने के साथ ही पुलिस ने उसके दोनों बेटे उमर और अब्बास पर 25-25 हजार रुपये6 का इनाम भी घोषित कर दिया है।
इस मामले में जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख्तार अंसारी और उनके बेटे उमर व अब्बास के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में जालसाजी, साजिश रचने, जमीन पर अवैध कब्जा करने के आरोप में केस दर्ज कराया था। सुरजन लाल का आरोप था कि जिस जमीन पर मुख्तार के बेटों ने टॉवर बनवाए थे, वह मो. वसीम की थी।

वसीम 1952 में पाकिस्तान चख्ले गए तो संपत्ति निष्क्रांत के रूप में दर्ज हो गई। उक्त जमीन के फर्जी दस्तावेज बनाकर मुख्तार के बेटों ने वहां कब्जा करके दो टॉवर का निर्माण करा लिया था। जमीन पर एक मस्जिद भी बना ली थी।

अब्बास अंसारी नेशनल शूटर है और उसके खिलाफ 12 अक्तूबर 2019 को महानगर कोतवाली में शस्त्र लाइसेंस के मामले में धोखाधड़ी की एफआईआर दर्ज कराई गई थी। उक्त मामले की जांच एसटीएफ ने की थी।

एफआईआर होने के बाद लखनऊ पुलिस की एक टीम ने दिल्ली के बसंतकुंज स्थित अब्बास के किराये के मकान की तलाशी ली थी जहां इटली से ऑस्ट्रिया तक के असलहे मिले थे। अब्बास पर आरोप है कि उसने डीएम की अनुमति के बगैर अपना शस्त्र लाइसेंस दिल्ली के पते पर ट्रांसफर करा लिया और वहां पांच असलहे और खरीदे थे।

फिलहाल, अब्बास उमर पर इनाम घोषित होने के बाद जल्द उनकी गिरफ्तारी की संभावना भी जताई जा रही है। हजरतगंज के एसीपी राघवेंद्र मिश्रा का कहना है कि मुख्तार का बी वारंट तैयार है। कोर्ट के आदेशानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।उक्त जमीन के फर्जी दस्तावेज बनाकर मुख्तार के बेटों ने वहां कब्जा करके दो टॉवर का निर्माण करा लिया था।

verz technologies website designing company