news-portal-verz-technologies

रिपोर्ट प्रदीप मौर्य

आपको बता दें कि अमित कुमार सिंह निवासी रे दो पुर नई कॉलोनी आजमगढ़ सिधारी स्थित मऊ बाईपास रोड पर बुलेट मोटरसाइकिल एवं वेस्पा स्कूटर की एजेंसी अमित मोटर्स के नाम पर चलाते हैं विगत तीन-चार वर्षों से इनको एक मेरे परिवार को पैसा मांगते हुए जान से मारने की धमकियां दी जा रही हैं एक बार तो लगभग तीन साढे तीन लाख की चुनौती इन्हें घायल करके की गई थी तब से लगातार मैं और मेरे बेटे बेटे अमित कुमार लोकल एवं शासन से घर एजेंसी पर अपनी सुरक्षा के लिए मांग कर रहा हूं अभी जल्द ही दिनांक 13 अगस्त 2020 को पुलिस अधीक्षक जी से मिलकर मैंने सुरक्षा हेतु प्रार्थना पत्र दिया था जिस पर श्रीमान ने मुझे स्पष्ट आश्वासन दिया था कि मैं सदैव आपका फोन रिसीव करूंगा एवं मेरे रहते आप और परिवार का बाल बांका भी नहीं हो सकता इसी बीच नौ 10 माह से मेरे बेटे अमित को दो बार लकवा का अटैक हो गया है वरिष्ठ डाक्टरों ने आजमगढ़ बनारस के मुझे पूर्ण इलाज कोई भी मानसिक कार्य अमित से न कराने का आदेश दिया वह बेड रेस्ट करते रहें एवं तथा मेरे बड़े बेटे धर्मेंद्र कुमार छाया की तरह से इनका दवा इलाज कराते रहें एजेंसी का सारा कार्य हमारे मैनेजर कैसियर चार लोग वसी उल्लाह उर्फ सोनू रवि उल्ला उर्फ मोनू पुत्र गढ़ हाफि जुल्ला इमलाक अहमद उर्फ गुलजार पुत्र इम्तियाज अहमद एवं धर्मेंद्र यादव पुत्र मनोज प्रसाद यादव निवासी थाना सिधारी एजेंसी का संपूर्ण कार्य करते रहें बैंक से लेकर कैश कार्य सभी इन्हीं के जिम्मे था जब मेरा पुत्र अच्छा होकर आया और एजेंसी जाने लगा तो कुछ कस्टमर पैसा जमा करने की रसीद लेकर अमित से मिले जो पैसा कस्टमर को रसीद दी गई थी लेकिन हमारे बैंक के अकाउंट में नहीं पहुंचा था अमित विस्तृत जांच करने लगे तो पाए कि केवल 3 माह जून जुलाई-अगस्त 2020 से लगभग 35 40 लाख का घोटाला मिला इनका माथा ठनका और सीए को रिकॉर्ड ऑडिट करने हेतु लगा दिए जो हो रही है इस संदर्भ में अभी कल ही 4:30 बजे मुझे एफ आई आर नंबर 0
0193 कि थाने से प्रति मिली जिसमें गमन करता लोग सांठगांठ करके 7:00 बजे शाम को जान मारने की नीयत से अमित सिंह पर अटैक कर दिए हमें कल ही धारा 307 f.i.r. नंबर 0195 दर्ज कराना पड़ा जिसमें पुलिस द्वारा उचित कार्रवाई हो रही है मौके पर एक अपराधी पकड़ा गया जिस को पुलिस ले गई जाते-जाते उसे अमित सिंह को धमकी दिया कि तुम्हारी हत्या अवश्य करूंगा मेरा परिवार अति भयभीत होकर व्यापार परिवार और सुरक्षित हो गया जिसमें अमित सिंह के पिता हरिशंकर सिंह ने न्याय की गुहार लगाई

verz technologies website designing company