news-portal-verz-technologies
    1. रिपोर्ट राजेश चौबे

आजमगढ़ | मण्डलीय जिला अस्पताल मे लगातार मिल रही शिकायतों पर वार्ड में भर्ती मरीजों से की मुलाकात जाना उनका हालचाल वार्ड के अंदर पाई कई खामियां वार्ड में अधिकतर मरीजों ने बताया कि ऑपरेशन के एवज में डॉक्टर लेते हैं पैसे आर्थो वार्ड में भर्ती मरीजों परिजनों ने बताया कि हड्डी के ऑपरेशन में इस्तेमाल होने वाला रार्ड र्प्लेट आदि सामान डॉक्टर और स्टाफ द्वारा शहर स्थित ब्रह्मस्थान के निजी मेडिकल एजेंसी से मंगाते हैं या खुद लाते हैं उसके एवज में लेते हैं भारी रकम वह अन्य मरीजों ने बताया कि ऑपरेशन के एवज में सर्जन डॉक्टर द्वारा पैसों की डिमांड की जाती है पैसा मिलने के बाद ही ऑपरेशन किया जाता है लगभग 4000 से ₹5000 लिए जाते हैं वही साहिल उपाध्याय द्वारा लावारिस वार्ड का निरीक्षण किया गया जहां पर वार्ड के अंदर वृद्ध लावारिस महिला जमीन पर लेटी हुई थी और उसके आसपास गंदगी यों का अंबार लगा हुआ था और साहिल उपाध्याय ने डॉक्टर के केबिन के अंदर दलालों का जमावड़ा पाया जब इस उपरांत प्रमुख चिकित्सा अधिकारी एस आई सी डॉ एसके जी सिंह से बात की तो सारी अनियमितताएं बताएं तो डॉक्टर एसकेजी सिंह ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है अगर ऐसी कोई बात होगी तो कार्रवाई की जाएगी जब उनके सामने मरीजों का लिया हुआ बयान और अन्य ने मिटाएं दिखाई गई तब उन्होंने बताया कि अगर ऐसी बात है तो दोषी डॉक्टर और कर्मचारियों पर कार्रवाई की जाएगी उपाध्याय द्वारा पूछे जाने पर कि सर्जन डॉक्टर संतोष गुप्ता पर विभाग के कर्मचारी से पैसा मांगने पर और कर्मचारी द्वारा पैसा ना दे पाने पर ऑपरेशन न करने पर उनके ऊपर क्या कार्रवाई की और डॉक्टर केबिन के अंदर और बाहर दलालों का जमावड़ा लगा रहता है उस पर क्या कार्रवाई की गई तो डॉक्टर एस के जी सिंह द्वारा वही रटा रटाया लीपापोती वाला जवाब आया सामने सबसे बड़ी बात की किसी डॉक्टर या किसी कर्मचारी की जांच डॉक्टर चंद्रहास को ही क्यों दी जाती है और आज तक की जितनी भी जांच हुई उसका क्या परिणाम निकला और क्या कार्रवाई हुई उसके बारे में भी ऐसा ऐसी डॉक्टर एसकेजी सिंह ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया जिला मंडली अस्पताल की दूर व्यवस्था और अनियमितताएं से काफी दुखी नजर आए साहिल उपाध्याय उन्होंने बताया कि इसकी मैं उच्च स्तरीय जांच कर आऊंगा और जो भी डॉक्टर मरीजों का दोहन करते हैं शोषण करते हैं और जो भी दयनीय हालत हॉस्पिटल की है उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

verz technologies website designing company