news-portal-verz-technologies
एक तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में व्यापार व उद्योग को बढ़ावा देने के लिए देश ही नहीं बल्कि दुनिया भर के व्यापारियों को उत्तर प्रदेश में आने के लिए आमंत्रित कर रहे हैं और साथ में उत्तर प्रदेश पुलिस के दम पर पूर्ण सुरक्षा देने की गारंटी भी दे रहे हैं पर उत्तर प्रदेश के बागपत पुलिस ने जिस प्रकार का रूप व्यापार व व्यापारियों के विरुद्ध दिखाया है उसको जान कर कम से कम गुजरात के सूरत क्षेत्र के व्यापारी उत्तर प्रदेश में निवेश करने या किसी भी प्रकार से उत्तर प्रदेश पुलिस पर भरोसा करने से निश्चित रूप से डरेंगे और संकोच करेंगे। यह कहानी बागपत पुलिस के एक सिपाही से शुरू होती है जिसका अंत कहां है यह अभी किसी को नहीं पता।
बागपत पुलिस लाइन में तैनात रहते हुए भी है कॉन्स्टेबल संजीव तेवतिया अक्सर ड्यूटी से गायब भी बताया जाता है । बताया यह भी जा रहा है कि कॉन्स्टेबल के पास किसी आईपीएस से भी ज्यादा संपत्ति है ।

सूरत के इस प्रतिष्ठित व्यापारी का नाम घनश्याम दामजी भाई है जिसने बागपत पुलिस द्वारा किसी भी प्रकार की सुनवाई ना होने पर एडीजी जोन मेरठ को एक प्रार्थना पत्र प्रेषित किया है जिसमें उसने बागपत की पुलिस लाइन में तैनात एक कांस्टेबल संजीव तेवतिया की शिकायत की है। संजीव तेवतिया व कांस्टेबल है जिसने इस व्यापारी से 2500000 रुपए ठग लिए हैं जिसका जिक्र व्यापारी ने अपने प्रार्थना पत्र में किया है और अपने पैसे उक्त कांस्टेबल से वापस दिलाने की गुहार लगाई है। संजीव तेवतिया के बारे में कहा जा रहा है कि वह कभी खुद को पुलिस का इंस्पेक्टर बताने लगता है तो कभी जज का खास। व्यापारी से बात करते हैं उसके कई कॉल रिकॉर्डिंग हुआ मैसेज के स्क्रीनशॉट है जिसमें वह खुद को अपने सभी वरिष्ठ उच्चाधिकारियों का बेहद खास वह अपना हिस्सेदार बता रहा है।

कानपुर में अपराधियों द्वारा 30 लाख की फिरौती का मामला भी शांत हुआ ही नहीं है उत्तर प्रदेश पुलिस के कॉन्स्टेबल द्वारा 2500000 रुपए गबन का मामला आने के बाद अब उत्तर प्रदेश पुलिस पर और बड़े और कड़े सवाल खड़े होने शुरू हुए हैं। व्यापारी अपने लुटे हुए पैसे पाने के लिए दर दर की ठोकर खा रहा है लेकिन मीडिया के हस्तक्षेप के बाद भी जिस प्रकार से जिला बागपत का प्रशासन मौन धारण किए हुए हैं उससे साबित जरूर होता है कि पूरे रैकेट में कुछ बहुत बड़े लोग जरूर शामिल है।

verz technologies website designing company