news-portal-verz-technologies
  • पुलिस अधीक्षक ने कहा मुबारकपुर, अमिलो नेवादा के लोग, पुलिस इजाजत के बाद ही घर से निकले बाहर
  • मुबारकपुर में कोरोना के मरीज मिलने के बाद पूरे जनपद में दहशत का माहौल
  • मदरसा के प्रबंधक हफीजुल्लाह के ऊपर पुलिस ने किया मुकदमा दर्ज कर जांच में जुटी
    रिपोर्ट-एस पी दुबे एडवोकेट
    आजमगढ़  के मुबारकपुर कस्बा में मरकज से लौटे तीन लोगों को कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद सुपरकॉप से मशहूर पुलिस अधीक्षक प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह ने मुबारकपुर, अमिलो, नेवादा कस्बे को पूरी तरह से सील करा दिया है । पुलिस अधीक्षक ने आदेश दिया है कि इन तीन कस्बों के लोगों को अगर बाहर किसी काम से जाना है तो पहले पुलिस को सूचित करें तभी बाहर निकले । पुलिस अधीक्षक का आदेश मिलते ही पुलिस ने इन तीनों कस्बों को पूरी तरह से सील कर दिया है । जगह-जगह बैरियर लगाकर चेकिंग पुलिस द्वारा किया जा रहा है ।
  • मुबारकपुर-कोरोनावायरस के तीन मरीजों की पुष्ट होने के बाद पूरे जनपद के लोगों में दहशत व्याप्त है बता दे कि दिल्ली मरकज निजामुद्दीन से चल कर आनंद बिहार एक्सप्रेस से 21 मार्च को आए हुए जमात के लोग मुबारकपुर की एक मस्जिद में ठहरे हुए थे । 22 मार्च को प्रधानमंत्री द्वारा लॉकडाउन कर दिया गया था । जिसके कारण जमात के लोग एक मदरसे में छुप गए जहां स्थानीय पुलिस को सूचना मिली कि मरकज से आए हुए जमात के लोग एक मदरसे में छुपे हुए हैं । सूचना पर पहुंची पुलिस ने मरकज से आए हुए लोगों को सरकारी समुदायिक केंद्र लाकर जांच कराई । जांच के बाद उन्हें यहां से कोरनटाईन कर दिया गया।
  • कोरन टाइईन- किए गए लोगों में मोहम्मद इरशाद पुत्र मोहम्मद मोईनुद्दीन निवासी महालिक गाजियाबाद, अकील अहमद पुत्र गनी अहमद, अब्दुल कलाम पुत्र इसरार, मुजम्मिल पुत्र नईम, अब्दुल अतीकुर्रहमान पुत्र अब्दुल अजीज हैदराबाद तेलंगाना, अब्दुल रऊफ पुत्र हकीम आंध्र प्रदेश शामिल थे। तीनों की जांच आने के बाद जमात वालों के साथ नमाज पढ़ने वाले 18 लोगों को सीओ सदर अकमल खान, मुबारकपुर सामुदायिक केंद्र के प्रभारी डाक्टर सी यादव ने मिशन हास्पिटल और आर के फार्मेसी सठियावं में कोरनटाइन कराया। मरकज से आए हुए जमातीयों को छिपाने के आरोप में मदरसा के प्रबंधक हफीजुल्लाह एवं मदरसा के केयरटेकर के खिलाफ केस दर्ज किया था। इन सातों मरकज से लौटे कुल 16 लोगों के नमूने जांच को किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज लखनऊ भेजा गया था। जिसमें तीन जमात के लोग अब्दुर्रऊफ पुत्र हकीम आंध्रा प्रदेश, मोजम्मिल पुत्र नईम हैदराबाद तेलंगाना, अतीकुर्रहमान पुत्र अब्दुल अजीज की रिपोर्ट पाजिट्यू आई जहां पूरे जिले में हड़कंप मच गया। इन्हें छिपाने के आरोप में मदरसा के प्रबंधक हफीजुल्लाह पुत्र अफरोज एवं जियाउल कमर पुत्र वसी निवासी सिक्ठी नया पुरा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।
verz technologies website designing company